Hum BhojpuriaJanuary 29, 20201min16540

आओ! बेटियों के चेहरे पर मुस्कुराहट लेकर आते हैं। समानता का दिलाकर अधिकार, उन्हें सशक्त बनाते हैं।। राष्ट्रीय बालिका दिवस पर आइये! हम बेटियों को सशक्त बनाकर बेहतर समाज के निर्माण में अपना योगदान देने का संकल्प लें। सभी बेटियाँ शिक्षित बने, आगे बढ़े और अपने सपनों को पूरा करें। बेटियाँ है तो कल है!

हम भोजपुरिआ भोजपुरी भाषा, साहित्य, संस्कृति के संरक्षण, संवर्धन और विकास के लिए, देश की दशा और दिशा को बेहतर बनाने में भोजपुरी भाषियों के योगदान के लिए और नई प्रतिभाओं को मंच देने के लिए ‘हम भोजपुरिआ’ समर्पित है। हम अर्थात हम सभी। सबका साथ सबका विकास। भोजपुरी की थाती, भोजपुरी की धरोहर और भूले-बिसरे शख्सियतों से आपका परिचय कराना है। जो नींव में ईंट की तरह हैं, उन सभी लोगों के काम को सबके सामने लाना है और नई पीढ़ी में भोजपुरी के लिए रूचि पैदा करना है। नए और पुराने के बीच सेतु का काम करेगी ‘हम भोजपुरिआ’। देश-विदेश के भोजपुरियों के बीच संवाद का जरिया है ‘हम भोजपुरिआ’। सच कहें तो साझा उड़ान का नाम है ‘हम भोजपुरिआ’।



Hum BhojpuriaJanuary 29, 20201min15000

भोजपुरी एगो अंतरराष्ट्रीय भाषा ह – सुशील कुमार सिंह, सांसद About Channel: हम भोजपुरिआ भोजपुरी भाषा, साहित्य, संस्कृति के संरक्षण, संवर्धन और विकास के लिए, देश की दशा और दिशा को बेहतर बनाने में भोजपुरी भाषियों के योगदान के लिए और नई प्रतिभाओं को मंच देने के लिए ‘हम भोजपुरिआ’ समर्पित है। हम अर्थात हम सभी। सबका साथ सबका विकास। भोजपुरी की थाती, भोजपुरी की धरोहर और भूले-बिसरे शख्सियतों से आपका परिचय कराना है। जो नींव में ईंट की तरह हैं, उन सभी लोगों के काम को सबके सामने लाना है और नई पीढ़ी में भोजपुरी के लिए रूचि पैदा करना है। नए और पुराने के बीच सेतु का काम करेगी ‘हम भोजपुरिआ’। देश-विदेश के भोजपुरियों के बीच संवाद का जरिया है ‘हम भोजपुरिआ’। सच कहें तो साझा उड़ान का नाम है ‘हम भोजपुरिआ’।



About us

भोजपुरी भाषा, साहित्य, संस्कृति  के सरंक्षण, संवर्धन अउर विकास खातिर, देश के दशा अउर दिशा बेहतर बनावे में भोजपुरियन के योगदान खातिर अउर नया प्रतिभा के मंच देवे खातिर समर्पित  बा हम भोजपुरिआ। हम मतलब हमनी के सब। सबकर साथ सबकर विकास।

भोजपुरी के थाती, भोजपुरी के धरोहर, भूलल बिसरल नींव के ईंट जइसन शख्सियत से राउर परिचय करावे के बा। ओह लोग के काम के सबका सोझा ले आवे के बा अउर नया पीढ़ी में भोजपुरी  खातिर रूचि पैदा करे के बा। नया-पुराना के बीच सेतु के काम करी भोजपुरिआ। देश-विदेश के भोजपुरियन के कनेक्ट करी भोजपरिआ। साँच कहीं त साझा उड़ान के नाम ह भोजपुरिआ।


Contact us



Newsletter

Your Name (required)

Your Email (required)

Subject

Your Message